भ्रष्टाचार

भ्रष्टाचार

 

 

http://www.transparency.org/cpi2014/results

 

ट्रांसपेरेन्सी इंटरनेशनल द्वारा प्रस्तुत करप्शन परसेप्शन इंडेक्स 2014 के तथ्यों के अनुसार-

 

साल 2013 में भारत का करप्शन परसेप्शन इंडेक्स में अर्जित अंकमान 36 था(इतना ही अंकमान 2012 में भी था)। यह अंकमान 2014 में बढ़कर 38 हो गया है। करप्शन परसेप्शन इंडेक्स में भारत का स्थान 175 देशों की सूची में अब 85 वें स्थान पर पहुंच गया है। चीन 175 देशों की सूची में 36 अंकों के साथ 100वें स्थान पर है।

 

भारत में लोकतंत्र अत्यंत सक्रिय दशा में है लेकिन इस लोकतंत्र का एक स्याह पक्ष भी है। नागरिक संगठनों और मीडिया की सक्रियता के बावजूद भ्रष्टाचार भारत में एक बड़ी समस्या के रुप में मौजूद है।

 

 भारत में व्याप्त राजनीतिक भ्रष्टाचार इस बात की सूचना है कि जवाबदेही और पारदर्शिता से संबंधित गवर्नेंस की संरचनाएं भ्रष्टाचारियों को रोक पाने में अक्षम हैं और इन संरचनाओं तक लोगों की पहुंच सीमित हैं। भ्रष्टचार की समस्या के समाधान के लिए राजनीतिक प्रतिबद्धता की जरुरत है ताकि सरकार के शीर्षस्तर से ठोस कदम उठाए जा सकें। मई महीने में ट्रांसपेरेन्सी इंटरनेशनल की एक रिपोर्ट में चेतावनी दी गई थी कि दक्षिण एशिया के देशों में भ्रष्टाचार निरोधी कानून को सख्ती से लागू करने की जरुरत है, साथ ही भ्रष्टाचार पर निगरानी रखने वाली संस्थाओं को मजबूत करने और ह्वीस्लब्लोअर को सुरक्षा देने की भी सख्त जरुरत है।

 

भारत (38) और चीन (36) सहित प्रशांत-एशियाई क्षेत्र के अन्य उभरते बाजारों मसलन मलेशिया (52), फिलीपिन्स तथा थाईलैंड (दोनों 38) तथा इंडोनेशिया (34) का अंकमान करप्शन परसेप्शन इंडेक्स पर बहुत कम है जो संकेत करता है कि इन देशों का नेतृत्व भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के मामले में कमजोर है, साथ ही इन देशों की अर्थव्यवस्था को भ्रष्टाचार की परिव्याप्ति से खतरा है और लोकतंत्र की दशा लचर है।

साल 2014 के करप्शन परसेप्शन इंडेक्स में 175 देशों में तकरीबन दो तिहाई देशों का अंकमान 50 से कम है। 0 से 100 अंकों के पैमाने पर 0 का अंकमान सर्वाधिक भ्रष्टाचार की स्थिति का संकेत करता है जबकि 100 का अंक सर्वाधिक भ्रष्टाचार-मुक्त स्थिति का। साल 2014 में डेनमार्क 92 अंकों के साथ 175 देशों की सूची में सबसे शीर्ष पर है जबकि उत्तर कोरिया और सोमालिया महज 8 अंकों के साथ सूची में सबसे नीचे हैं।

 

करप्शन परसेप्शन इंडेक्स(2014) के लिहाज से शीर्ष के पाँच देशों के नाम हैं-: डेनमार्क (अंक: 92, स्थान: 1), न्यूजीलैंड (अंक: 91, स्थान: 2), फिनलैंड (अंक: 89,स्थान: 3), स्वीडेन (अंक: 87, स्थान: 4) और नार्वे (अंक: 86, स्थान: 5).

 

करप्शन परसेप्शन इंडेक्स(2014) में 175 देशों की सूची में सबसे नीचे के देशों के नाम हैं : सोमालिया (अंक: 8, स्थान: 174), उत्तर कोरिया (अंक: 8, स्थान: 174), सूडान (अंक: 11, स्थान: 173), अफगानिस्तान (अंक: 12, स्थान: 172) और दक्षिम सूडान (अंक: 15, स्थान: 171).

 

 
Rural Experts

Related Articles

 

Write Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later