खोज परिणाम

Total Matching Records found : 1179

बेशुमार जुगनुओं की जरूरत

अपने बूते करिए. अपने उत्पाद खुद डिजाइन करिए, अपनी मशीनें भी खुद बनाइए और अपने मजदूरों, इंजीनियरों और डिजाइनरों को प्रशिक्षण भी खुद ही दीजिए. यही वजह थी कि टाटा मोटर्स (तब टेल्क

कुछ और »

आंकड़ों में गांव

मीण श्रमिक बल तथा 45 प्रतिशत शहरी श्रम बल अपने रोजगार में है। ग्रामीण दिहाड़ी मजदूर भारत में कुल कार्य बल का एकल सबसे बड़ा भाग हैं। • खेती की लागत के आंकड़ों से पता चलता है कि

कुछ और »

खेतिहर संकट

खेती को अपनी आमदनी का प्रमुख स्रोत बताया जबकि 22 प्रतिशत खेतिहर परिवारों ने मजदूरी को अपनी आमदनी का प्रधान स्रोत बताया। ---- जिन खेतिहर परिवारों की मालकियत में 0.01 हैक्टेयर य

कुछ और »

वनाधिकार

की संख्या 68 प्रतिशत से घटकर 45 प्रतिशत रह गई थी जबकि आदिवासी समुदाय के खेतिहर मजदूरों की संख्या 20 प्रतिशत बढ़कर 2001 तक 37 प्रतिशत हो गई थी। इससे आदिवासी आबादी के बीच बढ़ती भूमिही

कुछ और »

भोजन का अधिकार

ी मौजूदा योजनाओं दायरे में जो लोग नहीं हैं मसलन- स्कूल-वंचित बच्चे, आप्रवासी मजदूर और उनके परिवार, बंधुआ मजूरी के शिकार परिवार, विस्थापित और बेघर लोग और शहरी क्षेत्र के गरीब आ

कुछ और »

सूचना का अधिकार

रुआती सालों में राजस्थान के ग्रामीण इलाके के लोगों की हक की लड़ाई लड़ते हुए मजदूर किसान शक्ति संगठन ने व्यक्ति के जीवन में सूचना के अधिकार को एक नये ढंग से रेखांकित किया। य

कुछ और »

मानवाधिकार

रण कुछ लोगों को फुटपाथ और गलियों के कोने-अंतरे में रहना पड़ता है ताकि वे अपनी मजदूरी मिले कुछ पैसे बचा सकें.   ---- 2011 के स्लमस् सेन्सस के तथ्यों से पता चलता है कि तमिलनाडु में

कुछ और »

खेती पर असर

ी का 70 फीसदी हिस्सा खेती से आता है, सो इस गांव का हर बालिग व्यक्ति या तो खेतिहर मजदूर है या किसान। गांव के कुछ व्यक्ति सरकारी नौकरी, छोटे-मोटे कारोबार या निर्माण-कार्यों के लिए

कुछ और »

शिक्षा

रीबी के जाल में फंसेगी। •        बढती गरीबी, बेरोजगारी और घटती मजदूरी के कारण कई गरीब परिवार शिक्षा पर हो रहे अपने खर्चे में कटौती कर रहे हैं और अपने बच्चों का ना

कुछ और »

असुरक्षित परिवेश

ग 70 फीसदी है। • सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं के अतिरिक्त किसानों और खेतिहर मजदूरों को खाद, कीटनाशक और खरपतवारनाशक तथा मशीनों के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण कुछ विशेष स्वास्थ

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later