खोज परिणाम

Total Matching Records found : 12378

देश की 70 प्रमु प्रयोगशालाओं में वैज्ञानिकों के 2911 पद ाली

नई दिल्ली: देश की 70 प्रमु प्रयोगशालाओं में वैज्ञानिकों के 2911 पद रिक्त हैं. सरकार का कहना है कि जब भी कोई पद ाली होता है तब संबंधित प्रयोगशाला या संस्थान में व

कुछ और »

नरेगा के बजट मे कटौती और आधार लिंकित भुगतान कामगारों के हक का उल्लंघन: नरेगा संघर्ष मोर्चा

ती. इस साल के बजट में से 4,000 करोड़ रुपये बीते साल के बकाया रकम को चुकता करने में र्च हुए हैं. सो, साल के बाकी बचे महीनों के लिए नरेगा के मद में मात्र 56,000 करोड़ रुपये की राशि ही शेष ब

कुछ और »

सोनभद्र में जिस ज़मीन के लिए 10 लोगों को मार दिया गया, उसका कोई राजस्व रिकॉर्ड नहीं

कॉर्ड नियमानुसार नष्ट कर दिए जाते हैं. ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि उनके रने के लिए स्थान की समस्या हो जाती है. उन्होंने कहा कि कुछ मामलों में हालांकि रिकॉर्ड नष्ट नहीं

कुछ और »

मध्य प्रदेशः शौचालय में बनाया जा रहा ाना, मंत्री ने कहा- इसमें कोई दिक्कत नहीं

े मील तैयार किया जा रहा है. आंगनबाड़ी में जगह की कमी का हवाला देकर शौचालय में ाना पकाने की बात की जा रही है. समाचार एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, आंगनबाड़ी की एक कर्

कुछ और »

‘आरटीआई संशोधन बिल मूलभूत अधिकारों के लिए तरा’

ाधीन है. नई दिल्ली के वीमेन प्रेस क्लब में केंद्रीय सूचना आयोग के पूर्व मु्य सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्ला, दीपक संधू एवं पूर्व सूचना आयुक्त शैलेश गांधी, श्रीधर आचार्याल

कुछ और »

अब एक फोन कॉल से ही किसान जान जाएगा अपने ेत के मौसम का हाल

नई दिल्ली: दिनभर ेत पर कैसा मौसम रहेगा, बारिश होगी या नहीं इसकी जानकारी अब किसान फोन पर ले सकेंगे. फोन से कृषि विशेषज्ञों से बात करने के बाद किसान अपने ेत में

कुछ और »

भारत की रबों डॉलर की संपदा झुग्गियों में बंद पड़ी है, उन्हें मुक्त करने का समय आ चुका है

भारत में हर साल रोज़गार की लाईन में लगने वाले 70 से 80 ला लोगों को नौकरी देने के लिए जीडीपी की वृद्धि दर को 10 प्रतिशत से ऊपर ले जाना होगा और इसके लिए चाहिए अगले पांच वर्षों तक साला

कुछ और »

कहां ले जाएगी जल की अनदेी -- रामचंद्र गुहा

र कुमुदावती का पानी एकत्र होता था। वर्ष 1931 में नगर की आबादी मोटे तौर पर तीन ला थी। 1970 के शुरुआती वर्षों में यह पांच गुना बढ़कर 15 ला हो गई। तब नगर के पश्चिम की ओर

कुछ और »

पानी के बहाव का आपदा बन जाना-- दिनेश मिश्र

बहते पानी में अगर थोड़ी देर ड़ा रहना पड़ जाए, तो पैरों के नीचे से जमीन िसकने लगती है, और जब जमीन सिर्फ रेत की बनी हो, तो पानी में संभलना बहुत मुश्किल हो जाता है। ज

कुछ और »

पानी साफ करने के इंतजाम के अभाव में नदियां हो रहीं दूषित, कई राज्यों की स्थिति चिंताजनक

ें देश में न केवल नदियों, तालाबों और जलाशयों का पानी जहर बनता जा रहा है बल्कि ेती में रसायानिक ादों के अत्याधिक इस्तेमाल के कारण भूजल भी दूषित हो रहा है. भ

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later