खोज परिणाम

Total Matching Records found : 1393

बिहार के 20 जिलों में सूखे के हालात, बचाव और राहत के जल्द हों उपाय- एनएपीएम

. बिहार में 77 फीसद आबादी कृषि-कर्म में लगी है और राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में खेती-बाड़ी तथा सहायक क्षेत्रों का योगदान लगभग एक चौथाई का है. सूखे की स्थिति वाले जिलों में कृषि क

कुछ और »

धरातल पर एमएसपी की स्थिति-- अवनीन्द्र नाथ ठाकुर

ं किया गया है, वह विभिन्न फसलों में लगनेवाले इनपुट (खाद, बीज, पटवन) पर खर्च एवं खेती में लगनेवाले पारिवारिक श्रम को जोड़कर किया जाता है. लेकिन इन लागतों में जमीन का किराया एवं व

कुछ और »

धान के गीत गानेवाले-- डा. अनुज लुगुन

लोसाते जाये.' झारखंड के आदिवासियों के द्वारा गाये जानेवाले इस गीत में धान की खेती के समय का उल्लास है. यह धान की खेती से जुड़े युवक और युवतियों का चित्रण है. हल ज

कुछ और »

ये किस देश के लोग हैं!-- कुमार प्रशांत

ाथ हो रहे अकल्पनीय दुराचार की बात किये बिना कोई अपनी उपलब्धियों का बखान करे, खेती-किसानी को दी जा रही ‘रिकाॅर्ड छूट' के लिए अपनी पीठ ठोंकते लोग पल भर भी न झिझकें कि पिछले 90 दिन

कुछ और »

सूखे में हो रही बारिश-- कुमार प्रशांत

तंत्र भी नहीं है, वह करोड़ों किसानों के कृषि-खर्च, बीज-खाद-पानी की जरूरत, कर्ज, खेती में हुए नुकसान, भरपाई की हैसियत अौर अात्महत्या के शिकारों के अांकड़े कैसे प्राप्त करती है अौ

कुछ और »

चीन-अमेरिका में छिड़े ट्रेड वॉर से एमपी के सोयाबीन किसानों को होगा फायदा

यर, महाराष्ट्र 35.84 मिलियन हेक्टेयर और राजस्थान 10.80 मिलियन हेक्टेयर सोयाबीन की खेती होती है। ऐसे में इन राज्यों के लिए ये अच्छी खबर है। उम्मीद इसलिए भी बढ़ी हुई है, क्योंकि इंदौर

कुछ और »

9 फीसद कम हुई बारिश, इस वजह से प्रभावित हुए उत्तर और पूर्वी राज्य

अलावा दक्षिण और मध्य भारत के कई हिस्सों में जोरदार बारिश हुई है। मगर देश में खेती मानसून की बारिश पर ही निर्भर करती है। खासतौर पर मानसून सीजन में खरीफ की फसलों की बुवाई होती ह

कुछ और »

कभी किसान के मन की बात भी करें मोदी- योगेन्द्र यादव

ाओं से किसान की नाराज़गी के संकेत आ रहे हैं। प्रधानमंत्री जानते हैं कि देश की खेती पर निर्भर आधी आबादी यह सवाल पूछ रही है: किसानों के लिए मोदी सरकार ने क्या किया? इस सवाल के उत्त

कुछ और »

मॉनसून के ठिठकने का नुकसान-- हिमांशु ठक्कर

श हुई है, वह सामान्य से तकरीबन 39 प्रतिशत कम है. बारिश की इस कमी का असर सबसे पहले खेती पर ही पड़ता है, क्योंकि इसी दौरान देश के कई क्षेत्रों में (उत्तर-पश्चिम भारत को छोड़कर) पहली ब

कुछ और »

किसानी से डरने वाला समाज-- मृणाल पांडे

क के लोन तक पर कब्जा करने लगे. उधर, सामान्य किसान के परिवार बढ़े, जोत कम हुई और खेती का खर्च बढ़ता गया.    गांव के खानदानी किसानों का हर हुनर किसानी से ही जुड़ा होता है.

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later