खोज परिणाम

Total Matching Records found : 4384

सरकारी स्कूल फेल नहीं हुए, इन्हें चलाने वाली सरकारें फेल हुई हैं- जावेद अनीस

शिक्षा का अधिकार क़ानून (आरटीई) लागू हुए 9 साल पूरे हो चुके हैं लेकिन आज की स्थिति में 90 फीसदी से अधिक स्कूल आरटीई के मानकों पर खरे नहीं उतरते हैं. इस दौरान सरकारी स्कूलों की स्थ

कुछ और »

गुड़गांव: ऑटोमोबाइल कंपनी में सेप्टिक टैंक की सफाई के दौरान दो लोगों की मौत

सूचना दे दी गई है और वो फिलहाल यहां आ रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘उनके आने के बाद शिकायत करने पर मामला दर्ज किया जाएगा.' द वायर हिन्दी पर प्रकाशित इस कथा को विस्तार से पढ़ने के लि

कुछ और »

चुनाव चर्चा से नदारद पुलिस सुधार- विभूति नारायण राय

ी। एक आधुनिक संस्था के रूप में भारतीय पुलिस का जन्म 1860 के दशक में बने औपनिवेशिक कानूनों के आधार पर हुआ था। यह सही है कि पहली बार वर्ण-व्यवस्था के कठोर शिकंजे

कुछ और »

बिहार में शिक्षा व्यवस्था की खुली पोल, किसी ने टेबल पर बैठकर तो किसी ने मोबाइल की रोशनी में दी परीक्षा

बिहार के बेतिया में स्नातक पार्ट-2 की एमआईएल की शुक्रवार को हो रही परीक्षा में अफरातफरी मच गई। क्षमता से अधिक परीक्षार्थियों के होने के कारण जहां-तहां छात्रों को बैठा दिया गया। एक-एक बेंच पर प

कुछ और »

अनसुनी रह जाती है जिनकी आवाज-- बद्रीनारायण

राजनीतिक दलों पर दबाव का काम करेंगे। नदी किनारे बसने वाले तमाम गांव बाढ़ का शिकार होते हैं। उत्तर प्रदेश में बलिया, गाजीपुर, आजमगढ़, मऊ से लोकर गोण्डा, बस्ती, बहराइच का एक बड़ा ह

कुछ और »

आर्थिक असमानता लोगों को मजबूर कर रही है कि वे बीमार तो हों पर इलाज न करा पाएं- सचिन जैन

प-पोषण की स्थिति में अंतर है. शहरी क्षेत्रों में 31 प्रतिशत बच्चे ठिगनेपन के शिकार हैं, तो वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में 41.2 प्रतिशत बच्चे वृद्धिबाधित कुपोषण के शि

कुछ और »

दिल्ली: चौकीदारों की भर्ती में बड़ा घोटाला, सीबीआई ने किया खुलासा

) ने सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) की दिल्ली इकाई की शिकायत के आधार पर चौकीदारों की भर्ती में कथित अनियमितता बरतरने और अयोग्य उम्मीदवारों को चुने जा

कुछ और »

जम्मू-कश्मीर: हिंसा के कारण विस्थापित होने वालों की तादाद सबसे ज्यादा तादाद

ंघर्ष और हिंसा के हालात के कारण जिन दस देशों में सबसे ज्यादा लोग विस्थापन के शिकार हुये, भारत ऐसे देशों में युद्ध-जर्जर अफगानिस्तान से बस थोड़ा ही पीछे हैं. रिपोर्ट के मुताबि

कुछ और »

किसी की खिल्ली उड़ाकर नरेंद्र मोदी असली मुद्दों पर पर्दा नहीं डाल सकते- सिद्धार्थ भाटिया

ष रूप से राहुल गांधी की खिल्ली उड़ाने की कोशिश में साफतौर पर डिस्लेक्सिया के शिकार छात्रों का ही मजाक उड़ा डाला. इसको लेकर लोगों का गुस्सा समझ में आने लायक है. सबसे खराब बात यह

कुछ और »

स्वच्छ चुनाव के विभिन्न आयाम- अजीत रानाडे

मोबाइल कैमरा किसी ऐसी घटना का जीपीएस द्वारा प्रमाणित वक्त और स्थान दर्ज कर शिकायतकर्ता की पहचान गुप्त रखते हुए उसे सुरक्षित रूप से निर्वाचन आयोग के वेब सर्वरों पर अपलोड कर

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS

Read Later