खोज परिणाम

Total Matching Records found : 221

सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था- केसी त्यागी

नागरिकों के इलाज के बीच भी एक बड़ी खाई बन चुकी है. मुजफ्फरपुर की घटना भी इसी असमानता का उदाहरण है, जहां मृतक बच्चों में सर्वाधिक संख्या गरीब और पिछड़े समाज से है. सीमेंट की कर्

कुछ और »

प्रत्याशियों को चुनाव में अनुदान का विकल्प- भरत झुनझुनवाला

टियों के धनाढ्य प्रत्याशियों को भी यह धन मिलेगा और इससे प्रत्याशियों के बीच असमानता बढ़ेगी, न कि घटेगी। कहा जा सकता है कि धनाढ्य प्रत्याशियों को भी रकम देने से इस व्यवस्था का औ

कुछ और »

कम नहीं चुनाव आयोग की शक्तियां- नवीन चावला

प में जाति के बने रहने का एक कारण यह भी है कि विगत तीन दशकों में हमारे समाज में असमानता की स्थिति बढ़ी है। देश को आजादी मिलने के बाद विकास की जो प्रक्रिया है और विशेष रूप से 1991 के

कुछ और »

आर्थिक असमानता लोगों को मजबूर कर रही है कि वे बीमार तो हों पर इलाज न करा पाएं- सचिन जैन

दुनिया में जितनी आर्थिक और संसाधनों की असमानता बढ़ी है, उसमें सबसे ऊंचा स्थान भारत का है. विश्व असमानता रिपोर्ट (वर्ल्ड इनइक्वालिटी रिपोर्ट 2018) के अनुसार, चीन

कुछ और »

उदारीकरण के बाद बनीं आर्थिक नीतियों से ग़रीब और अमीर के बीच की खाई बढ़ती गई- सचिन कुमार जैन

स आर्थिक विकास ने हमें एक ऐसी चमक दी है, जो हमारी आंखों में पड़ती है और फिर हमें असमानता दिखाई देना बंद हो जाती है. वर्तमान विकास मिथ्या सकारात्मकता का सबसे ज़्यादा निर्माण कर

कुछ और »

बुनियादी आय गारंटी योजना-- आकार पटेल

आय का विचार अपनी जगह बना रहा है. वामपंथी और उदारवादी मानते हैं कि यह गरीबी और असमानता को खत्म कर सकता है. दक्षिणपंथी मानते हैं कि कल्याण वितरण के लिए यह ज्यादा उपयुक्त और कम नौ

कुछ और »

आमदनी की गांरटी : सरकार की इच्छाशक्ति से ही संभव, जानें क्या है न्यूनतम आय गारंटी योजना व यूबीआइ?

ं? क्योंकि दुनियाभर में पूंजीवाद एक संकट की तरह है. पूंजीवाद का संकट यह है कि असमानता बेतहाशा बढ़ी है, गरीब और अमीर की खाई और भी गहरी हो गयी है. पूंजीवाद ने कई परेशानियां पैदा क

कुछ और »

पर्यावरण की चिंता जरूरी-- जगदीश रत्तनानी

साय जगत इन मुद्दों- परेशान युवा, सरकारों पर अविश्वसनीयता, दुनियाभर में बढ़ती असमानता और आर्थिक लूटपाट- को लेकर चिंतित है. ऐसे समय में सहयोग का ग्राफ कैसे आगे बढ़ेगा? हाल में स

कुछ और »

भारत के 9 अमीरों के पास है 50 फीसदी आबादी के बराबर संपत्ति: रिपोर्ट

ीब लोगों के बीच बढ़ रही खाई को पाटने के लिए तत्काल कदम उठाएं क्योंकि यह बढ़ती असमानता गरीबी के खिलाफ संघर्ष को ही कमतर करके आंक नहीं रही है बल्कि अर्थव्यवस्थाओं को चौपट कर रही

कुछ और »

कांग्रेस रोज़गार देने में अच्छी नहीं थी, लेकिन मोदी सरकार में हालात और बदतर हो गए: अमर्त्य सेन

हैं. इंडिया टुडे के साथ एक विशेष साक्षात्कार में अमर्त्य सेन ने कहा आर्थिक असमानता का समाधान आरक्षण नहीं हो सकता है. उन्होंने आगे कहा, ‘हम आर्थिक अवसरों के माध्यम से ही आय कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later