खोज परिणाम

Total Matching Records found : 2727

बिहार: ज़मीन के मालिक तो बन गए, लेकिन ज़मीन न मिली-- उमेश कुमार राय

ा था, जिसे चम्पारण सत्याग्रह भी कहा जाता है. ये प्रयोग सफल भी हुआ था और यहां के किसानों को नील की खेती से मुक्ति मिली थी. बेतिया शहर की तीनमुहानी पर कत्थई रंग की बापू की आदमकद

कुछ और »

ट्रैक्टरों की खरीद में कमी से जानिये बढ़ते ग्रामीण-संकट का हाल, इस न्यूज एलर्ट में

ंने तर्क दिया कि पंजाब, उत्तरप्रदेश तथा महाराष्ट्र जैसे सूबों में एक तो किसानों की कर्जमाफी हुई है, दूसरे कृषि कर्जों में सूद की दर नीची रखी गई है और इस कारण ट्रैक्टर की ख

कुछ और »

सम्मान सिद्धि योजना / किसान अगले हफ्ते से पीएम-किसान पोर्टल पर खुद ही रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे

ई दिल्ली. प्रधानमंत्री किसान सम्मान सिद्धि योजना के तहत सालाना 6 हजार रुपए लेने के लिए किसान अगले हफ्ते से सीधे पीएम-किसान पोर्टल पर रजिस्ट

कुछ और »

रिपोर्ट/मंदी से निपटने के लिए ब्याज दरें घटाना काफी नहीं, सरकार को ग्रामीण इलाकों में खर्च बढ़ाना चाहिए

ग बढ़ाने के उपाय करने चाहिए। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना, मनरेगा और पीएम-किसान जैसी योजनाओं के जरिए खर्च बढ़ाना चाहिए। एसबीआई की रिपोर्ट सोमवार को सामने आई। दैनिक भास्

कुछ और »

इस फसल को चाहिए नई बहार- हरजिंदर

रहे हैं और बाजारों में आसानी से उपलब्ध हैं। कहा जाता है कि महाराष्ट्र के कुछ किसानों ने इसकी सफलता का स्वाद पिछली फसल के समय चख लिया था और अब जब मानसून की बारिश ने महाराष्ट्र क

कुछ और »

क्या सचमुच सरकार ने किसानों को फसल की लागत का ड्योढ़ा मूल्य दिया है?

घोषणा से ऐसा जान पड़ता है मानो केंद्र की नयी सरकार ने अपना वादा निभाया है और किसानों को उनकी फसल का लाभकारी मूल्य दिया जा रहा है(जैसा कि हाल में कई किसान संगठ

कुछ और »

अब एक फोन कॉल से ही किसान जान जाएगा अपने खेत के मौसम का हाल

नई दिल्ली: दिनभर खेत पर कैसा मौसम रहेगा, बारिश होगी या नहीं इसकी जानकारी अब किसान फोन पर ले सकेंगे. फोन से कृषि विशेषज्ञों से बात करने के बाद किसान अपने खेत में

कुछ और »

सरकार मनरेगा को हमेशा चलाए रखने की पक्षधर नहीं: ग्रामीण विकास मंत्री

सिर्फ 2.7 प्रतिशत है. लोकसभा में ‘वर्ष 2019-20 के लिए ग्रामीण विकास तथा कृषि और किसान कल्याण मंत्रालयों के नियंत्रणाधीन अनुदानों की मांगों' पर चर्चा का जवाब देते हुए तोमर ने कह

कुछ और »

हरियाणा के 11 गांवों के लिए ‘राक्षस’ बना पानी, लोग इच्छा मृत्यु को तैयार

जींद : भाखड़ा नहर से साफ पानी की मांग को लेकर 20 जून से धरने पर बैठे 11 गांवों के किसान अब इच्छामृत्यु करना चाहते हैं. क्योंकि उन्हें लगता है कि जहरीला पानी तो वैसे भी उन्हें मार र

कुछ और »

आंध्र प्रदेश: 2014-19 के बीच 1,513 किसानों ने की आत्महत्या, सिर्फ 319 परिवारों को मुआवजा मिला

त्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने बुधवार को बताया कि राज्य में 2014 से 2019 के दौरान 1,513 किसानों ने आत्महत्या की, जबकि 391 परिवारों को ही अनुग्रह राशि (मुआवजा) दिया गया.   मुख्यमंत्री न

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later