खोज परिणाम

Total Matching Records found : 15

किसान-आत्महत्याओं में कमी लेकिन खेतिहर मजदूरों की आत्महत्याओं में बढ़ती के रुझान

र्ष 2016 में महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा संख्या(2550) में किसानों ने आत्महत्या की. किसान-आत्महत्या के लिहाज से शीर्ष के दो अन्य राज्यों में कर्नाटक तथा तेलंगाना का नाम लिया जा सकता

कुछ और »

बजट 2018: घट गया पिछले साल के मुकाबले खेती-किसानी और ग्रामीण विकास का बजट

भाषण में 27 दफे ‘किसान' (Farmer) शब्द आया और 16 दफे किसानी (Agriculture) का जिक्र. हालांकि ‘किसान-आत्महत्या' या ‘ग्रामीण-संकट' जैसा कोई शब्द बजट-भाषण में नहीं था तो भी कोई कह सकता है कि वित्

कुछ और »

किसानों से क्रूरता की राजनीति-- पवन के वर्मा

महत्या की घटनाओं में 42 प्रतिशत वृद्धि हई, जिनमें 2015 में अकेले मध्य प्रदेश की 581 किसान-आत्महत्याएं शामिल हैं. किसानों की दुर्दशा से शिवराजजी यदि वस्तुतः उतने ही द्रवित थे, जित

कुछ और »

कर्जमाफी नहीं है समाधान -- देविंदर शर्मा

ांव पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और छत्तीसगढ़ की तरफ बढ़ चुके हैं। मेरा मानना है कि किसान-आत्महत्या तो उस गंभीर गड़बड़ी का एक संकेत मात्र है, जिसने पूरी खेती-किसानी को ही बदहाल कर रखा ह

कुछ और »

किसान-आत्महत्या : सबसे ज्यादा परेशान सीमांत और छोटे किसान !

मर्ज बढ़ता गया ज्यों-ज्यों दवा की ! देश में खेती-किसानी का हाल कुछ ऐसा ही है. किसान-आत्महत्या के नये आंकड़े संकेत करते हैं कि बीते 2 सालों में देश में कृषि-संकट और ज्यादा गहरा हु

कुछ और »

मूक खेतिहर भर नहीं हैं देश के किसान-- अनिल पद्मनाभन

िन्सों की वैश्विक कीमतों के दम तोड़ने के कारण हालात बदहाल हो गए हैं। देश में किसान-आत्महत्या पट्टी के रूप में प्रचारित इस क्षेत्र के किसानों में एक और पहलू भी है। यह है, यहा

कुछ और »

इन्क्लूसिव मीडिया-यूएनडीपी फेलोशिप : परिणाम घोषित!

: 1.      भरत डोगरा, स्वतंत्र पत्रकार ( बुंदेलखंड क्षेत्र में कृषि-संकट, किसान-आत्महत्या तथा जीविका के मुद्दे पर केंद्रित शोध-प्रस्ताव)   2.      कुणाल देव, प्रभात

कुछ और »

आत्महत्याएं कभी झूठ नहीं बोलतीं!- चंदन श्रीवास्तव

ं हुई कुल आत्महत्याओं का लेखा-जोखा रहता है. इसी को आधार बना कर बीते वर्षो में किसान-आत्महत्याओं की राज्यवार संख्या और स्वभाव के बारे में कच्चे-पक्के अनुमान लगाये जाते रहे है

कुछ और »

कर्ज है किसान-आत्महत्या की सबसे बड़ी वजह- नई रिपोर्ट

ट के तथ्य नये सिरे से इस आशंका को पुष्ट करते हैं कि कर्जदारी और दिवालिया होना किसान-आत्महत्या की सबसे बड़ी वजह है और आत्महत्या के शिकार किसानों में सबसे ज्यादा संख्या छोटे और

कुछ और »

क्यों खुदकुशी कर रहे हैं किसान- विनय सुल्तान

ी गुलाबचंद कटारिया का विधानसभा में दिया बयान सुर्खी बन चुका था। मंत्रीजी ने किसान-आत्महत्या पर झुंझला कर कहा, ‘अगर कोई खुद को पेड़ से लटका ले तो इसमें सरकार क्या करे।' दिल्ली

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later