खोज परिणाम

Total Matching Records found : 15

स्वास्थ्य सेवा का सस्ता और कारगर विकल्प हो सकता है 'एमहेल्थ' -- नई रिपोर्ट

झ का 21 फीसद हिस्सा वहन करता है और 30 फीसद भारतीय उपचार पर होने वाले खर्च के कारण गरीबी-रेखा से नीचे चले जाते हैं.   साथ ही देश में आबादी की जरुरत के हिसाब से डाक्टर, प्रशिक्षि

कुछ और »

गरीबी हटाने की लंबी डगर - एन के सिंह(पूर्व सांसद और पूर्व केंद्रीय सचिव)

की रेखा में बदलाव कर दिया जाना चाहिए। लेकिन एक आशंका यह भी है कि इस तरह से बनी गरीबी-रेखा से गरीबों के स्तर में आए सुधार का आकलन ठीक से नहीं हो सकेगा। भारत में

कुछ और »

अपनों के हाथो दुर्व्यवहार के शिकार हो रहे हैं बुजुर्ग- नई रिपोर्ट

गों की 75 फीसदी तादाद ग्रामीण इलाकों में रहती है तथा तकरीबन एक तिहाई बुजुर्ग गरीबी-रेखा से नीचे जीवन बसर करते हैं।   हैल्पेज इंडिया की रिपोर्ट के प्रमुख तथ्य-   हेल

कुछ और »

गालिब! गुजरात का ख्याल अच्छा है- चंदन श्रीवास्तव

े लिए दर्दमंद होने के दिखावे के बीच यह बात बिल्कुल छुपी रह गयी कि गुजरात में गरीबी-रेखा के निर्धारण के लिए जारी उपभोग-खर्च की सीमा आज की नहीं, बल्कि 14 साल पुरानी है. गुजरात के ग

कुछ और »

बुजुर्गों की बदहाली और पेंशन-परिषद का धरना

ट में ध्यान दिलाया गया है कि उक्त रकम हर बुजुर्ग को नहीं बल्कि लालकार्ड धारी(गरीबी-रेखा से नीचे रहने वाले) बुजुर्गों को मिलती है। इस वजह से देश में बुजुर्गों की तादाद 9.92 करोड़

कुछ और »

बुजुर्गों की दीन-दशा और दिल्ली में पेंशन परिषद का धरना

ट में ध्यान दिलाया गया है कि उक्त रकम हर बुजुर्ग को नहीं बल्कि लालकार्ड धारी(गरीबी-रेखा से नीचे रहने वाले) बुजुर्गों को मिलती है। इस वजह से देश में बुजुर्गों की तादाद 9.92 करोड़

कुछ और »

अर्थशास्त्र की ऊंची मीनार से कुपोषण मिटाने की यह कवायद....

ो विवाद-प्रिय माना जाता है और हमारी यह विवादप्रियता एक बार फिर से उठान पर है ! गरीबी-रेखा और गरीबों की तादाद के बारे में लंबे समय तक वाक्युद्ध में उलझे रहने के बाद, प्रसिद्ध अनि

कुछ और »

वृद्धावस्था पेंशन के पक्ष में कुछ और तथ्य..

साधन से करती हैं, सिर्फ एक चौथाई बुजुर्गों तक पहुंचती है यानी जितने बुजुर्ग गरीबी-रेखा के नीचे हैं उनमें से बस आधे तक। * भारत में वृद्ध निर्भरता-अनुपात ( इसके लिए देखें टेबल

कुछ और »

बुजुर्गों के लिए इज्जत की जिन्दगी -आईए, एक अभियान का हिस्सा बनें

था के लिए दिया जाने वाला पेंशन उन्हीं बुजुर्गों को हासिल होता है जिनकी गणना गरीबी-रेखा से नीचे के व्यक्ति के रुप में की गई है और इस कोटि के भी 50 फीसदी से कम ही बुजुर्गों को वृद्

कुछ और »

भारत में रोजगारहीन आर्थिक वृद्धि - आईएलओ की नई रिपोर्ट

ोदगारशुदा जितने लोग प्रतिदिन प्रति व्यक्ति 2 डॉलर से कम की आमदनी के लिहाज से गरीबी-रेखा से नीचे हैं उनमें से तकरीबन आधे लोग दक्षिण एशिया में रहते हैं। साल 2011 में इनकी संख्या 46.2

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS

Read Later