खोज परिणाम

Total Matching Records found : 2027

प्रति बूंद अधिक फसल योजना : दिन भर चले अढ़ाई कोस!

ै कि ‘प्रति बूंद-अधिक फसल' कार्यक्रम के तहत वित्तवर्ष 2017-18 में 11.25 लाख हेक्टेयर जमीन माइक्रो-सिंचाई के अंतर्गत लायी गई है.   लेकिन बीते 11 दिसंबर को लोकसभा में एक अतारांकित प्र

कुछ और »

संकट के दोराहे पर हैं आदिवासी-- गिरिधारी राम गौंझू ‘गिरिराज

काट डाले गए, जबकि, झारखंडी आदिवासी, सदान आवश्यक होने पर ही पेड़ काटते हैं, वह भी जमीन से एक हाथ ऊपर, ताकि उससे फिर चारों तरफ नए पेड़ निकल सकें। जलावन के लिए झाड़ियों या टेढ़े-अनुपयोगी

कुछ और »

सुप्रीम कोर्ट के आदेश से 10 नहीं, करीब 20 लाख आदिवासी हो सकते हैं ज़मीन से बेदखल

' गोपालकृष्णन ने कहा कि आदेश को वन विभाग द्वारा आदिवासियों और वनवासियों को जमीन से बेदखल करने के लिए दुरुपयोग भी किया जा सकता है. अदालत का यह आदेश एक वन्यजीव समूह द्वारा दा

कुछ और »

सुप्रीम कोर्ट ने 10 लाख से अधिक आदिवासियों को जमीन से बेदखल करने का आदेश दिया

ज्यों के 10 लाख से अधिक आदिवासियों और जंगल में रहने वाले अन्य लोगों को जंगल की जमीन से बेदखल करने का आदेश दिया है. आदिवासियों और जंगल में रहने वाले अन्य लोगों के अधिकारों की रक्

कुछ और »

खेती फायदेमंद तभी किसान खुशहाल-- मोंटेक सिंह अहलूवालिया

योजनाओं पर अधिक जोर देती हैं, जिनमें भारी संसाधन खर्च होता है, मगर उनका फायदा जमीन के छोटे हिस्से को ही पहुंचता है। बेहतर होगा कि लघु सिंचाई और जल संरक्षण परियोजनाओं को बढ़ावा

कुछ और »

पीएम-किसान सम्मान निधि योजना: आखिर किन किसान परिवारों को सहायता मिलेगी ?

पर ‘ऑपरेशनल होल्डिंग’ का नाम दिया गया है. ऑपरेशन होल्डिंग के मायने हुये ऐसी जमीन जिसका इस्तेमाल अंशतः या पूर्णतः खेती-बाड़ी के लिए होता है, यह इस्तेमाल चाहे कोई व्यक्ति कर र

कुछ और »

किसानों को मिले दीर्घकालिक हल-- आशुतोष चतुर्वेदी

को फसल बेच चुके होते हैं. कृषि भूमि के मालिकाना हक को लेकर भी विवाद पुराना है. जमीनों का एक बड़ा हिस्सा बड़े किसानों, महाजनों और साहूकारों के पास है, जिस पर छोटे किसान काम करते ह

कुछ और »

बिहार: किसानों ने की यह गलती तो नहीं मिलेगे 6 हजार रुपये

रिकॉर्ड में दर्ज हैं, उन्हें ही सालाना छह हजार नकद मिलेगे। इस तिथि के बाद अगर जमीन की खरीद-बिक्री के बाद जमीन दस्तावेजों में मालिकाना हक का बदलाव हुआ तो अगले

कुछ और »

आर्थिक संतुलन लेकिन नजर वोट पर-- कन्हैया सिंह

ाला है। ये लोग अब आयकर के जाल से बाहर हो जाएंगे। फिर सरकार ने दो एकड़ रकबे से कम जमीन की मिल्कियत वाले किसानों को जो नगदी सहायता देने की घोषणा की है, उसका फायदा सीधे तौर पर तीन करो

कुछ और »

क्यों नहीं सीख पाते हैं बच्चे-- दिलीप रांजेकर

छी नीयत से बनाए गए हैं। समस्या अक्सर उन वास्तविक कार्रवाइयों में होती है, जो जमीन पर उसके कार्यान्वयन को सुनिश्चित करती है। आंशिक कार्यान्वयन या नीतियों की आत्मा को अभिव्यक

कुछ और »

Video Archives

Archives

share on Facebook
Twitter
RSS
Feedback
Read Later